Vasant Panchami Celebration  

0
43

Manav Bharti India International School celebrated Vasant Panchmi on 12th Feb 2019. This festival marks the end of the winter season and onset of the spring. The school was abuzz with the festive spirit. The campus was decorated with items of yellow colour to mark the occasion. The ambience was filled with jubilation.

 The celebrations commenced with a special assembly. Students began the day with special Saraswati Vandana invoking the blessings of Goddess Saraswati for seeking knowledge and wisdom. Tiny tots were dressed in yellow attires to present a special dance for the occasion.

‘Vasant Utsav’ a special programme was also organised to celebrate this auspicious occasion in which students presented self composed poems on spring season and Vasant Panchmi. The Director of the School Dr. Himanshu Shekhar praised and congratulated the students and teachers for putting up such a well organised and entertaining programme. Present on the occasion were Dr. Anantmani Trivedi,  Aarti Raturi,   Prerna Petwal,   Neha Tomar,   Poonam,  Anil Kandwal,  Rajeev Sagar, Paramjeet along with the students of Manava Bharati School.

वसंत तो प्रकृति का उत्सव है

देहरादून। वसंत तो प्रकृति का उत्सव है। वसंत उमंग और उत्साह का दौर है। वसंत ऋतु में प्रकृति के सौंदर्य की बात न हो, ऐसा कभी नहीं हो सकता। पीले वस्त्रों में बच्चे मंच पर पहुंचे तो पूरा माहौल वसन्तमय हो गया। हम बात कर रहे हैंं, मानव भारती स्कूल, देहरादून में वसंतोत्सव की। बच्चों ने कविताओं और गीतों के माध्यम से प्रकृति का आभार जताया।  

अध्यापिका पूनम उनियाल के निर्देशन में नर्सरी कक्षा की अवन्या तथा आद्रिका बिष्ट ने नृत्यमय प्रस्तुति से मन मोह लिया। अध्यापिका नीरजा जोशी की देखरेख में यूकेजी की कनक, जैनब, दीपिता, आराध्या, तनवीर, महक, अंशिका ,  आरोह के नृत्य को काफी प्रशंसा मिली। शिक्षिका नेहा तोमर के निर्देशन में कक्षा दो के अभिनव,तनिष्क, स्वास्तिक ,  रिषिता, जीविका, आन्या, अनन्या खत्री, शौर्य काला तथा कक्षा चार के अवनी, उज्ज्वल पांडेय, श्रेया लिंगवाल, नेहा नौटियाल ने कविता पाठ करके वसन्त ऋतु का स्वागत किया। अंजलि रावत ने स्वरचित कविता के माध्यम से हमसे दूर जाते वसन्त पर अपनी चिन्ता जाहिर की।

 

मानव भारती स्कूल के शिक्षक डॉ. अनन्तमणि त्रिवेदी ने वसंतोत्सव का शुभारंभ किया। उन्होंने सभी को वसन्त ऋतु की शुभकामनाएं देते हुए पीले फूलों का एक पौधा घर में लगाने का आह्वान किया। स्कूल के 55 बच्चों ने वसन्तोत्सव पर काव्य पाठ किया। कार्यक्रम का संचालन नौवीं की छात्रा सृष्टि निझावन और स्तुति ने किया। पांचवी कक्षा के  वैष्णवी ,  अभय, आकृति, अवन्तिका भण्डारी, हिमांशी तथा ऋषभ ने वसन्त ऋतु पर कविता सुनाई।

मानव भारती के निदेशक डाॅ. हिमांशु शेखर ने ‘‘वसन्तोत्सव’’ की सराहना करते हुए सभी को वसन्त ऋतु की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने सभी को एक-एक पौधा लगाने का संकल्प दिलाया। बच्चों की प्रतिभा की सराहना करते हुए उनसे कविताएं सुनाने, पढ़ने और समझने को कहा। इस अवसर पर बबिता गुप्ता, आरती रतूड़ी, अनिल कंडवाल, नेहा तोमर, नीरजा जोशी, पूनम उनियाल, परमजीत कौर, राजीव सागर, दीपानीता, डाॅ. अनन्तमणि त्रिवेदी आदि शिक्षक, शिक्षिकाओं ने उत्सव के आयोजन में योगदान दिया।

इस अवसर पर सातवीं की छात्रा मेघा बिष्ट, कशिश पंवार, शालिनी नौटियाल, स्नेहा शर्मा, अनुष्का नौटियाल, अयुक्ता पाल, ऋषभ त्रिपाठी, स्नेहा पंवार, श्रेया भट्ट, यामिनी कांडपाल, जया बिष्ट, सौहाद्री उनियाल, भूमि, आठवीं के दुर्गम्या गुप्ता, हर्षिता शर्मा, स्वाति राणा, साम्या, वेदांश वर्मा, राघव दिवाकर, आकांक्षा गुसाईं, प्राची पांडेय, कनिका सुरियाल, अर्ष अहमद, कक्षा छह के अभिनव सिंह, आयुषी पंवार, अंजली बडोला, आरूषी, दिशा जोशी, शिवांगी चमोली, जानवी सागू, छवि वर्मा, विनीत पंवार, दामिनी, वर्षा, आरूषी, प्राची, समीक्षा सहित बहुत संख्या में बच्चों ने वसन्त ऋतु की कविता सुनाकर व्याख्या भी की। शिक्षक डाॅ. अनन्तमणि त्रिवेदी ने सबके सुखमय जीवन की कामना की और अपना सन्देश दिया- जीवन का यह वसन्त खुशियां दे अनन्त।

 

LEAVE A REPLY