बच्चों को बताया, कैसे मदद करता है विज्ञान

0
405
  • केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की तीन दिन की वर्कशाप शुरू
  • मानवभारती स्कूल में नीति आयोग, इंटेल और आईयूएसएसटीएफ की वर्कशाप

विज्ञान के प्रति रूझान बढ़ाने के लिए मानवभारती स्कूल में तीन दिन की वर्कशॉप शुरू हो गई है। केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधीन वर्कशाप में बच्चों को बताया जा रहा है कि रोजाना के कामकाज में सामने आने वाली समस्याओं का हल विज्ञान के प्रयोग से कैसे किया जा सकता है। इसके लिए आइडिया से लेकर डिजाइन थिकिंग तक की प्रक्रिया को समझाया जा रहा है।

 

केंद्र सरकार के नीति आयोग के तहत अटल इनोवेशन मिशन की अटल टिंकरिंग लैब, इंटेल और इंडो यूएस साइंस एंड टेक्नोलॉजी फोरम (आईयूएसएसटीएफ) के सहयोग से इस वर्कशाप का आयोजन किया जा रहा है। वर्कशाप में उत्तराखंड और यूपी के 24 स्कूलों के छात्र-छात्राओं सहित सौ से अधिक लोग शामिल हो रहे हैं। वर्कशाप का शुभारंभ मानवभारती स्कूल की प्रिंसिपल नीना पंत ने सभी के स्वागत के साथ किया।

वर्कशाप मे ट्रेनर ने बच्चों को बताया कि समाज के सामने तरह-तरह की समस्याएं पेश आती हैं। इन समस्याओं को विज्ञान के इस्तेमाल से दूर करने का प्रयास किया जा सकता है। किसी भी तकनीकी के अविष्कार से पहले उसके इस्तेमाल पर बात की जाती है। उसके समाधान के लिए आइडिया पर चर्चा होती है। जब तकनीकी स्तर पर कुछ करने के लिए आगे बढ़ते हैं तो डिजाइन पर फोकस किया जाता है।

पहले दिन की वर्कशाप में बच्चों के साथ क्रियेटिविटी, इनोवेशन पर चर्चा की गई। उनको बताया गया कि विज्ञान की छोटी छोटी जानकारियां हमारे जीवन में क्यों जरूरी हैं। आइडिया को कैसे आगे बढ़ाया जा सकता है। विज्ञान के माध्यम से कम्युनिटी की मदद कैसे की जा सकती है। 

LEAVE A REPLY