हिन्दी हो या अंग्रेजी ! बस बात समझ में आनी चाहिए

0
387

समय बदल रहा है और हर व्यक्ति यह बात दावे के साथ कह रहा है कि अगर अंग्रेजी का साथ छूट गया तो तरक्की की दौड़ में पिछड़ जाएंगे। वहीं सितंबर माह शुरू होने के एक सप्ताह में ही हम हिन्दी में कामकाज, बोलचाल पर जोर देने लगते हैं। इसके बाद सभी दफ्तरों व संस्थानों में हिन्दी को भुला दिया जाता है और अंग्रेजी में बोलचाल व कामकाज करना अापकी प्रतिष्ठा को प्रदर्शित करता है यानि इसको आप अपने सम्मान से जोड़ लेते हैं। कुछ लोगों को यह कहते हुए भी सुना गया है कि नौकरी हासिल करनी है तो अंग्रेजी बोलना सीखो। हमारे शहर में ही अंग्रेजी में बोलना सिखाने वाले संस्थानों की बाढ़ सी आ गई है।

प्रतियोगिता की तैयारी करने वालों को कहा जाता है कि अंग्रेजी के दो अखबार पढ़ा करो। रोजाना अंग्रेजी के चार नये शब्दों को जानो और इनका इस्तेमाल करना सीखो। आपके दफ्तर में जो अंग्रेजी में धाराप्रवाह बात करता हो, उसके साथ कुछ नया सीखोगे। घर में, स्कूल में अंग्रेजी में बात करो। घरों में छोटे बच्चों को ए फॉर एप्पल,बी फॉर बैट … रटाते हुए देखा है। एल्फाबेट याद होगा,लेकिन पूरी वर्णमाला सुनाने वालों की संख्या कम ही होगी।

आप कहीं फॉर्म भरने जाएंगे तो कई बार ऐसा होता है कि आप अंग्रेजी में अपना नाम लिखते हैं और सॉफ्टवेयर दूसरे खाने में आपका नाम और पता हिन्दी में लिख देगा। अक्सर लोग कहते हैं कि अंग्रेजी में टाइप करना आसान है, हिन्दी की जानकारी नहीं है। हमारे दैनिक कामकाज में अंग्रेजी के तमाम शब्द इस्तेमाल करना हमारी मजबूरी हो गया है। जैसे- साइकिल,बाइक, बस,स्कूल, कॉलेज, गेट, कंप्यूटर, बैग, आफिस, लैपटॉप, बुक,कॉपी, ब्रेड, पेट्रोल, डीजल, केक, ओके, हेलो, टेलीविजन, चैनल, न्यूज, एयरपोर्ट, आईएसबीटी, कार, टीचर, प्रिंसिपल, स्पोट् र्स कॉलेज, डीएम,एसडीएम … यहां तक कि शॉर्ट फार्म भी अंग्रेजी में बोली जाती हैं- जैसे टेलीविजन को टीवी, गवर्न्मेंट इंटर कालेज को जीआईसी, डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को डीएम, चीफ मिनिस्टर को सीएम, गढ़वाल मंडल विकास निगम को जीएमवीएन….। और भी बहुत सारे शब्द और नाम हैं,जिनको अंग्रेजी में पुकारना हमारी आदत में शामिल हो गया है।

जो शब्द आपके संवाद को मजबूत बनाएं, जिनके इस्तेमाल से कोई भी बात समझ में आ जाए, उनको इस्तेमाल करने से परहेज क्यों। यहां यह भी ध्यान रखना होगा कि हम सभी भाषाओं और बोलियों का सम्मान करें।

 

LEAVE A REPLY