जीवन में नैतिक मूल्यों से होता है आत्मकल्याण

0
337

मानवभारती लाइव। देहरादून

गीता स्वाध्याय केंद्रम् में नैतिकता और आत्मकल्याण के मार्गों पर चर्चा करते हुए कहा गया कि मूल्यों के बिना जीवन का कोई महत्व नहीं है। मानव भारती स्कूल परिसर में हर रविवार चल रहे गीता स्वाध्याय केंद्रम् में संस्कृत शिक्षक डॉ. अनंतमणि त्रिवेदी ने कहा कि जीवन वही है, जो नैतिक मूल्यों पर आधारित हो। इसी से आत्म कल्याण के मार्ग भी प्रशस्त होते हैं। उन्होंने कहा कि दूसरों के साथ हिंसा अच्छी बात नहीं है। हिंसा जीवन मूल्यों के विरुद्ध होती है। हमेशा सच बोलना और अपने गुरुजनों के साथ विनम्रता और सम्मान का भाव रखना चाहिए।  उन्होंने कहा कि कोई कार्य बड़ा या छोटा नहीं होता। हमें हर कार्य में उत्कृष्टता का ध्यान रखना होगा।

LEAVE A REPLY