नशे को ना और जिन्दगी को हां कहिए

0
165

देहरादून। मानव भारती इंडिया इन्टरनेशनल स्कूल के बच्चों ने जिन्दगी को हाँ और नशे को ना करने का संकल्प लिया। बच्चों ने कहा कि ‘न हम नशा करेंगे और न लोगों को नशा करने देंगे’। इस दौरान बच्चों ने अतिथियों से सवाल पूछे और नशे के खिलाफ अभियान को आगे बढ़ाने की बात कही।

मौका था मानवाधिकार संरक्षण एवं भ्रष्टाचार निवारक समिति, उत्तराखंड की ओर से जनजागरण अभियान का। समिति के अध्यक्ष एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने बताया कि ‘सजग इंडिया’ के तहत आठ वर्षों से उत्तराखंड के स्कूलों तथा शिक्षण संस्थाओं में युवाओं से संवाद किया जा रहा है।

इसका मुख्य उद्देश्य युवा पीढ़ी को नशाखोरी के खिलाफ जागरूक करना है, ताकि युवा पीढ़ी समय रहते अपने भविष्य को संवार सके। युवा अपने संस्कारों के साथ – साथ परिवार, समाज, प्रदेश, राष्ट्र एवं सम्पूर्ण वसुधा का संरक्षण करें।

स्कूल की प्रार्थना सभा में समिति के अध्यक्ष जोशी ने बच्चों को नशे से बचने की सलाह दी। शिक्षक डॉ. अनन्तमणि त्रिवेदी ने अतिथियों का स्वागत किया और समिति के अभियान की प्रशंसा की। मानव भारती के निदेशक डॉ. हिमांशु शेखर ने सभी को धन्यवाद देते हुए बच्चों से कहा कि ‘नशे को ना तथा जिन्दगी को हाँ कहें’, सुन्दर और स्वस्थ जीवन जीएं।

प्रधानाचार्य नीना पंत ने बच्चों और उनके अभिभावकों से आग्रह किया कि किसी प्रकार का नशा नही होना चाहिए और सादगी से जीवन जीना चाहिए। इस अवसर पर नेहरू कॉलोनी थाना अध्यक्ष ने भी बच्चों से कानून और नियमों का पालन करने तथा नशे से दूर रहने की अपील की।

कार्यक्रम के अंत में अपनी राय व्यक्त करने वाले बच्चों कक्षा 6 की आयुषी रावत, कक्षा सात के सौहार्दी उनियाल, शुभम रावत व स्नेहा पंवार, कक्षा आठ की हर्षिता शर्मा तथा कक्षा 11 की श्रेया मधवाल व रिया मल्होत्रा को प्रमाणपत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। अन्त में बच्चों ने एक स्वर में संकल्प लिया ‘नशे को ना, जिन्दगी को हाँ’।

LEAVE A REPLY