मानवभारती स्कूलः अटल टिंकरिंग लैब में मनाया गया एटीएल कम्युनिटी दिवस

0
355
  • देहरादून के पांच स्कूलों के सौ से ज्यादा छात्र-छात्राएं ने जाने अटल टिकरिंग लैब के प्रयोग
  • सेंसर्स, थ्री डी प्रिंटिंग सहित विज्ञान और तकनीकी के बारे में व्यावहारिक जानकारी हासिल की

देहरादून। मानवभारती स्कूल देहरादून में स्थापित नीति आयोग की अटल टिंकरिंग लैब में एटीएल कम्युनिटी दिवस मनाया गया। मानवभारती स्कूल की अटल टिंकरिंग लैब में अन्य स्कूलों के छात्र-छात्राओं को आमंत्रित किया गया। देहरादून के पांच स्कूलों के सौ से ज्यादा छात्र-छात्राओं ने अटल टिंकरिंग लैब में सेंसर्स, थ्री डी प्रिंटिंग, सर्किट डिजाइन के साथ विज्ञान, तकनीकी और रचनात्मक पहल के बारे में जाना और प्रैक्टिकल किए।

 

डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर उनके समान अवसर और अधिकार के सिद्धांत को ध्यान में रखते हुए देशभर में नीति आयोग के निर्देशन में चल रही अटल टिकरिंग लैब में एटीएल कम्युनिटी दिवस मनाया गया। इसके तहत मानवभारती स्कूल की एटीएल लैब कम्युनिटी, जिसमें शिक्षक और छात्र-छात्राएं शामिल हैं, ने देहरादून शहर के पांच स्कूलों के सौ से भी ज्यादा छात्र-छात्राओं और शिक्षकों को एटीएल लैब में आमंत्रित किया। शुक्रवार सुबह एसजीआरआर पब्लिक स्कूल सहस्रधारा रोड, एसजीआरआर सीनियर सेकेंडरी स्कूल तालाब, स्प्रिंग हिल्स स्कूल, मैक्स इंटरनेशनल स्कूल, स्वामी विवेकानंद पब्लिक स्कूल, जोगीवाला के कक्षा 6 से 12वीं तक छात्र-छात्राएं शिक्षकों के साथ मानवभारती स्कूल पहुंचे।

करीब साढ़े तीन घंटे चले सत्र में मानवभारती स्कूल की एटीएल कम्युनिटी के मार्गदर्शक डॉ. गौरवमणि खनाल, एटीएल इंचार्ज मनोज कुमार और छात्र-छात्राओं ने अन्य स्कूलों से आए स्टूडेंट्स को एटीएल टिंकरिंग लैब के उद्देश्यों तथा एटीएल कम्युनिटी डे के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने एटीएल लैब में विज्ञान और तकनीकी पहल के बारे में बताया। छात्र-छात्राओं ने मानवभारती स्कूल की एटीएल लैब में रोबोटिक्स, माइक्रो कंट्रोलर की प्रोग्रामिंग, सेंसर्स के कार्य और उपयोग, थ्री डी प्रिंटिंग, स्टैम (एसटीईएम) किट के एप्लीकेशन्स, इलेक्ट्रोनिक्स सर्किट के मूल सिद्धांतों के बारे में प्रैक्टिकल करके जानकारी हासिल की। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने एटीएल शिक्षकों से सवाल पूछे। हिन्दुस्तान में पढ़ें- थ्री डी प्रिंटिंग से रू-ब-रू हुए छात्र

 

LEAVE A REPLY