क्रासवर्ड कान्टेस्ट के सिटी राउंड में अनिंदिता मिश्रा और जैकब विजेता

0
658
क्रिप्टिक क्रासवर्ड के सिटी राउंड के विजेता अनिंदिता मिश्रा और जैकब ल्यूक
  •  डीएवी पब्लिक स्कूल देहरादून के अग्रिम गोयल और दिव्यांशु पोखरियाल उपविजेता  
  • मानवभारती स्कूल में क्रिपटिक क्रासवर्ड कान्टेस्ट के सिटी राउंड का आयोजन
  • देहरादून और आसपास के 22 स्कूलों के 44 छात्र-छात्राएं कान्टेस्ट में शामिल हुए
  • दिल्ली में नवंबर में तीन दिन चलेगा कान्टेस्ट का ग्रेंड फिनाले
  • एक्स्ट्रा -सी सिविल सोसाइटी पटना ने किया कान्टेस्ट का आयोजन

मानवभारती लाइव। देहरादून

क्रिपटिक क्रासवर्ड कान्टेस्ट के सिटी राउंड में ग्रेस एकेडमी की अनिंदिता मिश्रा और जैकब ल्यूक विजेता घोषित किए गए।कांटेस्ट में डीएवी पब्लिक स्कूल देहरादून के अग्रिम गोयल और दिव्यांशु पोखरियाल उपविजेता रहे। एक्स्ट्रा -सी सिविल सोसाइटी पटना ने मानवभारती स्कूल में क्रिपटिक क्रासवर्ड कान्टेस्ट का आयोजन किया था। उत्तराखंड में पहली बार क्रिपटिक क्रासवर्ड कान्टेस्ट आयोजित किया गया था। सिटी राउंड के विजेता दूसरे राउंड के लिए चयनित किए गए। कान्टेस्ट का तीन दिन का ग्रेंड फिनाले नवंबर में दिल्ली में होगा।

रनरअप अग्रिम गोयल और दिव्यांशु पोखरियाल

मानवभारती स्कूल में सोमवार सुबह दस बजे से कान्टेस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो गए थे। कान्टेस्ट के लिए आनलाइन रजिस्ट्रेशन भी कराए गए। केंद्रीय विद्यालय संगठन और जवाहर नवाेदय विद्यालय कान्टेस्ट में सहयोगी रहे।किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड की क्लास 9 से 12 तक के स्टूडेंट्स शामिल हो सकते थे।

एक्स्ट्रा सिविल सोसाइटी पटना के राष्ट्रीय समन्वयक राज नारायण सिंह ने दीप प्रज्ज्वलन करके कान्टेस्ट का उद्घाटन किया। देहरादून और आसपास के शहरों के 22 स्कूलों के 44 छात्र-छात्राओं ने सुबह 11 से 12 बजे तक चले कान्टेस्ट में हिस्सा लिया। इसके तहत एक घंटे का लांग रिटन टेस्ट लिया गया। टेस्ट के जरिये बच्चों के सामान्य अध्ययन और शब्दावली के ज्ञान को परखा गया।

सभी कॉपियों की जांच के बाद रिजल्ट घोषित कर दिया गया। विजेताओं और उपविजेताओं को मुख्य अतिथि  मानवभारती स्कूल के निदेशक डॉ. हिमांशु शेखर, विशिष्ट अतिथि एक्स्ट्रा सिविल सोसाइटी पटना के राष्ट्रीय समन्वयक राज नारायण सिंह,  मानवभारती स्कूल के वाइस प्रिंसिपल अजय गुप्ता और अन्य विद्यालयों से आए शिक्षक-शिक्षिकाओं ने  ने पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र प्रदान किए। कान्टेस्ट में शामिल होने वाले सभी छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। कान्टेस्ट के संचालन में प्रवीन ध्यानी, जैनिफर पैफेट,

  

इस अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ. हिमांशु शेखर ने कहा कि क्रासवर्ड कान्टेस्ट बच्चों में जीके और शब्दावली के ज्ञान का परखा गया। क्रास वर्ड लॉजिक को बढ़ाता है। उन्होंने कान्टेस्ट में हिस्सा लेने वाले सभी बच्चों की प्रशंसा करते हुए कहा कि सभी ने अच्छा प्रयास किया। विशिष्ट अतिथि राजनारायण सिंह ने बताया कि  कान्टेस्ट का दूसरा राउंड नवंबर में होगा, जिसमें सिटी राउंड की विजेता टीमें शामिल होंगी। नई दिल्ली में ग्रेंड फिनाले तीन दिन तक चलेगा, जिसमें लिखित में क्वार्टर फाइनल होगा। इसके बाद चार ऑनस्टेज सेमीफाइनल होंगे। इनमें से विजेता टीम के बीच ऑन स्टेज फाइनल होगा।

कान्टेस्ट में शामिल हुए छात्र-छात्राएंः केंद्रीय विद्यालय ओएनजीसी से प्रशस्ति व सिद्धार्थ, केंद्रीय विद्यालय ओएलएफ से चिराग व रोहित, केंद्रीय विद्यालय आईटीबीपी(फर्स्ट शिफ्ट)  से राहुल यादव व प्रीति, ग्रेस एकेडमी से अनिंदिता मिश्रा व जैकब ल्यूक, साईग्रेस एकेडमी इंटरनेशनल से प्रिया ठाकुर व आऱती पुरोहित, दून इंटरनेशनल स्कूल से हरशीन व संशिता भट्ट, समर वैली स्कूल से वर्तिका भारद्वाज व श्रेय पोखरियाल, एसजीआरआर पब्लिक स्कूल रेसकोर्स से अंकुश ढौंडियाल व नेहा काला।

महाराणा प्रताप स्पोट् र्स कॉलेज रायपुर देहरादून से अभय बेलवाल व राजेश गिरी, दून ग्लोबल स्कूल झाझरा से आय़ुष गुसाईं व नीरज कुमार, सेंट एग्नेश इंटर कालेज से आकांक्षा शंकर व आयुष वर्मा, केंद्रीय विद्यालय नंबर 1 रुड़की से पीयूष के. कांबाेज व प्रगति, बीएएस विकासनगर से रिया जुयाल व ईशा शर्मा,डीएवी पब्लिक स्कूल से अग्रिम गोयल व दिव्यांशु पोखरियाल, दिल्ली पब्लिक स्कूल से स्वाति गुसाईं व निखिल अवस्थी, एसजीआरआर पब्लिक स्कूल एसडी रोड से रविंद्र खत्री व अमन नेगी, केंद्रीय विद्यालय आईटीबीपी( सेकेंड शिफ्ट) से पल्लवी शर्मा व अदिति अग्रवाल, चिल्ड्रन्स एकेडमी टैगोर विला से हर्षित भट्ट व मनीषा नेगी, एसजीआरआर पब्लिक स्कूल राजा रोड से अंकुर शुक्ला व अदनान रफत, पुलिस मॉडर्न स्कूल, देहरादून से आकाश कुमार व हिमांशु उपाध्याय, दून वैली पब्लिक स्कूल से प्रदीप व शरद प्रकाश तथा मानवभारती स्कूल देहरादून से नेहा भट्ट, मेघा कुकरेती, निहारिका त्यागी व अभिषेक।

जानिये प्रतियोगिता के बारे में 

एक्स्ट्रा -सी सिविल सोसाइटी पटना वर्ष 2013 से इस प्रतियोगिता का आयोजन देश के 39 शहरों में करा रही है।क्रासवर्ड कान्टेस्ट शहर और राष्ट्रीय स्तर पर दो राउंड में आयोजित होता है। बिहार कैडर के आईएएस विवेक कुमार सिंह के मार्गदर्शन में आयोजित होने वाली इस प्रतियोगिता से इस साल केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) और नवोदय विद्यालय समिति (एनवीएस) भी जु़ड़ गए हैं। प्रतियोगिता के राष्ट्रीय समन्वयक राजनारायण सिंह ने बताया कि सिटी राउंड के विजेताओं के बीच नवंबर में दिल्ली में ग्रेंड फिनाले का आयोजन होगा। इस साल के कान्टेस्ट की शुरुआत 11 जुलाई, 2017 को दिल्ली पब्लिक स्कूल रांची से हुई है। ग्रेंड फिनाले की कवरेज दूरदर्शन पर होगी। दूरदर्शन इस कान्टेस्ट को सहयोग कर रहा है।

क्रासवर्ड के फायदेः  क्रासवर्ड खेल खेल में सीखने का एक ऐसा तरीका है, जो स्टूडेंट्स के शब्द ज्ञान को बढ़ाने के साथ विविध आयामों पर उसको फायदा पहुंचाता है। यह तर्कशक्ति बढ़ाने, विषयों को समझने, बुद्धिमत्ता में वृद्धि और तत्काल तर्कसंगत फैसले लेने के लिए तैयार करता है। यह प्राब्लम सॉल्व करने के लिए प्रेरित करता है। एक और खास बात वह यह है कि यह आत्मविश्वास को बढ़ाता है, जो दिन पर दिन बढ़ते प्रतिस्पर्धी माहौल में किसी भी करिअर में तरक्की के लिए जरूरी है।

 

Anindita Mishra & Jacob Luke won the competition

ManavaBharati India International School was the host school for the city Zone round of Extra C Crossword Contest, 2017 in Dehradun. Crosswords are a ‘word meaning’ exercise in which an arrangement of numbered squares is to be filled with words running both across and down in answer to corresponding numbered clues. When the crossword fever engulfed the world as we all celebrated the 100 years of the enchanting game of crossword.

The CCCC is the world’s biggest and nations premier Crossword testing platform for high school students and seeks to promote excellence by encouraging students to undertake the habit of solving crossword puzzles. This contest is open for students of class IX to XII, of CBSE, CISCE and State Board Schools.

EXTRA-C believes that crossword puzzles help students improve their vocabulary, reasoning, lateral thinking and analytical abilities. Learning becomes so much enjoyable as different mental faculties are challenged. Crossword is also an interesting and effective educational tool, for students and teachers alike.

 

The world’s biggest inter-school crossword contest CCCC is conducted every year since 2014 in two phases i.e. City Rounds and the National round during July to December. The city rounds are held in different cities all across India covering all the 8 regional Zones of CBSE.

On 4th September, 2017 MBIIS was ready to host the contest in its premises. Around 22 Schools located in the vicinity of Dehradun participated in the contest. Teams consisting of two students solved a Written a Cryptic Crossword puzzle in 1 hour.

 

The winner Anindita Mishra and Jacob Luke Of Grace Academy and runner up Agrim Goyal and Divyanshu Pokhriyal of DAV Public School and all the participants received certificates and prizes by Chief Guest Dr. Himanshu Shekhar, Guest of Honour Mr. Raj Narayan Singh National Coordinator of CCCC and vice-Principal of MBIIS Mr.Ajay Gupta.

The Chief Guest praised the efforts of the participants and lauded the winners for their exceptional performance. Present for the event were Mr. P.K. Dhyani, Mrs. Jennifer Paffet, Mrs. Arti Raturi and the staff of the school.

 

LEAVE A REPLY